गुजरात के मुख्यमंत्री पद से आनंदीबेन पटेल के इस्तीफे के बाद सबसे बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि अब यह कुर्सी किसे मिलेगी। गुजरात में मंत्री नितिन पटेल, प्रदेश अध्यक्ष विजय रूपाणी, विधानसभा अध्यक्ष गणपत भाई बसावा और संगठन महामंत्री भीखू भाई दलसाणिया के नाम आगे माने जा रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार, जो स्थिति है, उसमें भाजपा के लिए 2017 का चुनाव मुश्किल माना जा रहा था। लिहाजा, अब जातिगत समीकरण के साथ-साथ ऐसे व्यक्ति को आगे लाने की कोशिश होगी जो हर किसी को साथ लेकर चलने की क्षमता रखता हो। नितिन पटेल शुरू से शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नजदीकी माने जाते हैं। वह कड़वा पटेल समुदाय से आते हैं।

वहीं युवा रूपाणी की पकड़ संगठन पर मजबूत है। वणिक समुदाय से होने के नाते भी उनकी दावेदारी मजबूत हो सकती है। इनके बीच गणपत भाई वसावा और भीखू भाई दलसाणिया हर किसी को हैरत में डालते हुए आगे भी निकल सकते हैं। आदिवासी समुदाय से आने वाले वसावा सभी दावेदारों में सबसे युवा हैं। गुजरात में लगभग 20 फीसद आदिवासी हैं और लगभग दो दर्जन सीटों पर उनका प्रभाव है। संघ से आने वाले दलसाणिया संगठन के आदमी हैं

 

आनंदीबेन का इस्तीफा, गुजरात CM की दौड़ में ये नाम

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-