शुक्रवार से शुरू हो रही दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भाजपा पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंकेगी। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां नोटबंदी के फैसले के जरिये काले धन के खिलाफ छेड़े गए अभियान का लाभ गिनाने के लिए नेताओं-कार्यकर्ताओं को निर्देश देंगे वहीं पार्टी प्रस्ताव पारित कर नोटबंदी के फैसले पर प्रधानमंत्री की पीठ थपथपाएगी। बैठक में आर्थिक और राजनीतिक प्रस्ताव पारित किए जाएंगे। आर्थिक प्रस्ताव में ही काले धन के खिलाफ अभियान और नोटबंदी फैसले का विस्तार से जिक्र होगा।

बैठक के अंतिम दिन चुनावी राज्यों की रिपोर्टिंग होगी। बैठक का समापन प्रधानमंत्री के भाषण से होगा। कार्यकारिणी की बैठक की शुरुआत दोपहर बाद 2 बजे राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक से होगी। इस बैठक को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अलग-अलग संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री अपने भाषण में नेताओं को नोटबंदी के फैसले के फायदे गिनाने के साथ ही सरकार की कैशलेस अर्थव्यवस्था निर्माण के प्रयास की विस्तार से जानकारी देंगे।

इस दौरान शाह और मोदी खासतौर पर चुनावी राज्यों में इस संबंध में व्यापक प्रचार अभियान चलाने का भी निर्देश देंगे। गौरतलब है कि यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के कार्यक्रमों की घोषणा कर दी है। इसके अलावा सरकार ने आम बजट को एक फरवरी को पेश करने की घोषणा की है।

चूंकि बैठक विधानसभा चुनाव के साये में हो रही है, इसलिए यह सीधे-सीधे चुनाव पर ही केंद्रित होगी। राज्यों की रिपोर्टिंग के दौरान खासतौर पर चुुनावी राज्यों की वर्तमान स्थिति, भावी रणनीति सहित अन्य पहलुओं पर व्यापक विचार-विमर्श होगा।

आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में चुनावी बिगुल फूंकेगी भाजपा

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-