उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 15 जिलों की 73 सीटों के लिए प्रचार का शोर आज शाम थम जाएगा। इन सीटों के लिए 11 फरवरी को मतदान होना है।

मुस्लिम बहुल इस इलाके में लगभग तीन साल पहले दंगों का दंश झेल चुके मुजफ्फरनगर और शामली जैसे क्षेत्र शामिल हैं। साल 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में इस चरण की 73 में से बीजेपी को केवल 11 सीटें मिली थी, मगर दो साल बाद 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में इस पार्टी ने इस अंचल की सभी लोकसभा सीटों पर अपना परचम फहराया था।

लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने अपने सहयोगी अपना दल के साथ प्रदेश की 80 में से 73 सीटें जीती थीं। पिछले विधानसभा चुनाव में इस अंचल में सपा, बसपा ने 24-24 सीटें जीतकर शानदार कामयाबी हासिल की थी और अजित सिंह की राष्ट्रीय लोकदल को 9 तथा कांग्रेस को पांच सीट मिली थीं।

पहले चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, हापुड़, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, आगरा, फिरोजाबाद, एटा और कासगंज जिलों में मतदान होना है। इस चरण में 73 सीटों के लिए कुल 2.57 करोड़ लोगों को मताधिकार प्राप्त है, जिनमें 1.17 करोड़ महिलाएं है। युवा वर्ग में 18 से 19 साल के बीच के मतदाताओं की संख्या भी 24 लाख से ऊपर है।

आज थम जाएगा यूपी में पहले चरण की 73 सीटों के लिए चुनाव प्रचार

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-