3 dead, 3 injured in fire that broke out in slums in Narwal

नरवाल में आधी रात के बाद हुए भीषण अग्निकांड में 150 से अधिक झुग्गियां जलकर राख हो गईं। दो बच्चों समेत कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई। एक दर्जन से अधिक लोग जख्मी बताए जा रहे हैं। हताहतों की तादाद अधिक भी हो सकती है। इन झुग्गियों में रहने वाले ज्यादातर लोग बंगलादेश और बर्मा के बताए जाते हैं। आग की चपेट में आकर करोड़ों का सामान स्वाहा हो गया ।

देर रात को दमकल की आधा दर्जन गाड़ियों की मदद से आग पर काबू पाया गया। पहली नजर में आग का कारण शार्ट सर्किट माना जा रहा है। कुछ झुग्गियों को बचा लिया गया है। पुलिस के मुताबिक रात बारह बजे अचानक एक झुग्गी में आग की लपटें उठीं और देखते ही देखते आसपास झुग्गियों में भी आग धधक उठी। चारों तरफ चीख-पुकार और भगदड़ मच गई। आग इतनी विकराल थी कि लोगों को अपना सामान तक बचाने का मौका नहीं मिला। फायर ब्रिगेड जब तक पहुंचती तब तक भारी तबाही हो चुकी थी।

हालांकि दमकल वाहनों के पहुंचने तक झुग्गियां जलकर राख हो गई थी। यही नहीं, दमकल वाहनों के ऊपर रोशनी तक नहीं थी। देर रात तक पुलिस के करीब पांच सौ जवान घटनास्थल पर आग पर काबू पाने की कोशिश में लगे हुए थे।

दमकल विभाग के संयुक्त निदेशक आर टी दुबे का कहना है कि उनके पास करीब 12.15 बजे आग लगने की जानकारी पहुंची। इसके बाद दमकल वाहन मौके पर पहुंचे। एसएसपी जम्मू सुनील गुप्ता का कहना है कि इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जिसकी जमीन पर यह झुग्गियां हैं, उसके खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा।

करीब पंद्रह मिनट में ही सब कुछ जलकर राख हो गया। झुग्गियों में रहने वाले नूर हुसैन ने सब कुछ अपनी आंखों देखा। बताया कि करीब पौने 12 बजे आग लगी और पंद्रह मिनट में ही सारी झुग्गियां जल गई। बहुत मुश्किल से सब लोगों ने भाग कर जान बचाई। झुग्गियों में करीब 400 लोग रहते हैं। इसमें 100 के करीब बच्चे शामिल हैं। अभिभावकों ने अपने बच्चों को मुश्किल से बचाया।

आग का तांडव, 150 झुग्गियां जलकर राख

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-