mayawati-meet-una-victims

अहमदाबाद। बसपा सुप्रीमो मायावती प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृहक्षेत्र गुजरात में पीड़ित दलितों का हालचाल लेने पहुंचीं। अहमदाबाद में दलित समुदाय के लोगों से मिलकर मायावती ने कहा कि मैं आपका दर्द बांटने यहां आयी हूं।

 

मायावती ने पीड़ितों से मिलकर कहा कि जब आपको पीटा जा रहा था तो मुझे लग रहा था कि कोई मुझे मार रहा है। उन्होंने कहा कि मैं पूरा वीडियो देख भी नहीं पाई। इतनी बर्बरतापूर्वक पिटाई के बाद भी गुजरात सरकार ने कुछ नहीं किया। मोदी और कांग्रेस ने इस घटना को सीरियसली नहीं लिया। मैंने ही संसद में यह मुद्दा उठाया और संसद चलने नहीं दी। हालांकि बीजेपी ने मुझे ऊना आने से रोकने के लिए अपनी पार्टी के नेता से विवादित बयान दिलवाया।

 

मायावती ने कहा कि मैं विरोधियों को जवाब देने के कारण नहीं आ पाई लेकिन में अपने समाज का दर्द बांटने आई हूं। उन्होंने कहा कि मैं अपने पीड़ित परिवार के पास जाना चाहती थी लेकिन परिवार ने कहा कि बहन जी संसद चल रही है ऐसे में हम अहमदाबाद ही आ जाते हैं।

 

मायावती ने आगे कहा कि ये लोग गाय को माता कहते हैं और मरने के बाद दलितों के हवाले कर देते हैं। इनकी माता गली-गली घूमती रहती है। यूपी में मेरी सरकार ने दलितों को यह काम नहीं करने दिया। हमने दलितों को स्वाभिमान से काम करने के लिए खेती की जमीन दी है। उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर बीजेपी दलित हितैषी है तो दलितों को जमीन क्यों नहीं देती।

 

 

 

अहमदाबाद पहुंचीं मायावती, कहा-मैं आपका दर्द बांटने आयी हूं

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-