orlando_1465763523

अमेरिका के फ्लोरिडा स्थित एक समलैंगिक नाइट क्लब में आतंकी संगठन आईएस के समर्थक एक हमलावर उमर एस मतीन की तरफ से की गई अंधाधुंध फायरिंग में करीब 50 लोगों की मौत हो गई, जबकि 53 घायल हो गए। करीब चार घंटे तक चली मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने आईएस समर्थक हमलावर उमर मतीन को ढेर कर दिया। 9/11 के बाद अमेरिका पर ये सबसे बड़ा हमला है। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने घटना को आतंकी हरकत और अमेरिकी नागरिकों पर हमला करार दिया। उधर, समाचार एजेंसी अमाक ने दावा किया है कि इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएस ने ली है लेकिन अमेरिका की तरफ से इसकी पुष्टि नहीं की गई है।

अधिकारियों के अनुसार, 29 वर्षीय मतीन आतंकी संगठन आईएस समर्थक था और वह एफबीआई के रडार पर था। अमेरिका के इतिहास में गोलीबारी की यह सबसे बड़ी घटना है। इससे पहले 2007 में वर्जीनिया टेक यूनिवर्सिटी में हुए हमले में 32 लोगों की मौत हुई थी। अधिकारियों ने इसे ‘आतंकी घटना’ करार देने के बावजूद कहा है कि मुस्लिम चरमपंथ से संदिग्ध संबंधों के लिए आगे और जांच किए जाने की जरूरत है। घटना में घायल लोगों का इलाज चल रहा है।

हमलावर उमर एस मतीन के बारे में एक वरिष्ठ एफबीआई अधिकारी ने कहा कि उसका झुकाव आईएस की तरफ रहा है। अमेरिकी समयानुसार हमलावर सुबह करीब 2 बजे ओरलेंडो के पल्स नाइट क्लब में घुसा और घुसते ही गोलीबारी शुरू कर दी। अमेरिकी प्रशासन ने इस हमले को ‘आतंकी’ घटना करार दिया है। ऑरेंज काउंटी शेरिफ के अनुसार, पीड़ितों को क्लब से निकालने का काम जारी है।

व्हाइट हाउस ने बयान जारी कर कहा है कि अमेरिकी उपराष्ट्रपति जो बाइडेन को ओरलेंडो नाइट क्लब में हुई गोलीबारी के बारे में उनके राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने रविवार को जानकारी दी। परिस्थितियों पर नजदीक से नजर रखी जा रही है।

पुलिस प्रमुख जॉन मिना ने कहा कि हमलावर ने मरने से पहले क्लब के भीतर कई लोगों को बंधक बना लिया था। उन्होंने कहा कि हमलावर के पास कुछ संदिग्ध ‘उपकरण’  थे। सुबह करीब 5 बजे स्वॉट टीम को बंधकों को मुक्त कराने के लिए घटनास्थल पर भेजा गया। मिना ने मृतकों की वास्तविक संख्या बताने से इनकार किया।

उन्होंने कहा कि इस गोलीबारी में कम से कम एक अधिकारी घायल हुआ है लेकिन क्लब में घुसने के निर्णय से कम से कम 30 लोगों की जान बच गई। व्हाइट हाउस द्वारा जारी बयान के अनुसार, ‘गोलीबारी में मृत और घायलों के लिए बाइडेन ने प्रार्थना की और पीडितों के परिवार और रिश्तेदारों के प्रति संवेदना जताई।’

फ्लोरिडा डिपार्टमेंट ऑफ लॉ इनफोर्समेंट स्पेशल एजेंट इंचार्ज डैनी बैंक्स ने कहा कि इस गोलीबारी की जांच आतंकी घटना के तौर पर की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रशासन अब इस बात की जांच कर रहा है कि यह घरेलू आतंक की घटना है या अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद की। इससे पहले पुलिस ने ट्वीट कर हमलावर के मौत की जानकारी दी। हमलावर के पास असॉल्ट टाइप राइफल, हैंडगन, आत्मघाती बेल्ट और कुछ हथियार थे।

शहर में 24 घंटे के बाद ही यह गोलीबारी की दूसरी घटना है। इससे पहले शुक्रवार को एक थियेटर में एक बंदूकधारी ने गोली मारकर गायिका क्रिस्टिना ग्रिमी की हत्या कर दी थी। समलैंगिक नाइट क्लब की दूरी ग्रिमी की हत्या की जगह से मात्र चार किमी की दूरी पर है। रविवार तड़के हुई घटना के बारे में चश्मदीदों ने बताया कि रात के दो बजे जब क्लब का समय खत्म होने जा रहा था, तब गोलीबारी हुई।

गोलीबारी शुरू होने के समय मौके पर मौजूद रहे क्लबर रिकार्डो नेग्रोन ने स्काई न्यूज को बताया कि कैसे बंदूकधारियों ने गोलियों से क्लब को दहला दिया। उन्होंने कहा कि लोग फर्श पर लेट गए। मेरा अनुमान है कि वह छत पर गोलियां दाग रहा था क्योंकि आप लैंप के गिरे हुए शीशे देख सकते हैं।

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के संभावित रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद पर अपने पूर्व के बयान को सही ठहराया है। ओरलेंडो नाइट क्लब हमले पर उन्होंने कहा कि यह संभवत: आतंकी घटना है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हमें स्मार्ट होने के साथ कठोर और सतर्क होना पड़ेगा।

ट्रंप ने लिखा, ‘वास्तव में ओरलेंडो में भीषण गोलीबारी हुई है।’ गौरतलब है कि ट्रंप ने कट्टरपंथियों के हमलों से निपटने के लिए अमेरिका में मुस्लिम प्रवासियों के प्रवेश पर अस्थायी प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव किया है।

दूसरी ओर डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद की संभावित उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने रविवार को कहा कि वह ओरलेंडो नाइट क्लब में हुई गोलीबारी की भयानक घटना से बहुत दुखी हैं।

हिलेरी क्लिंटन ने अपने हस्ताक्षर के साथ यह जताने के लिए ट्वीट किया कि ये ट्वीट वह खुद कर रही हैं। क्लिंटन ने लिखा, ‘फ्लोरिडा की दुखी करने वाली घटना के साथ उठी। अभी हम और जानकारी का इंतजार कर रहे हैं। इस भयानक घटना से प्रभावित लोगों के प्रति मेरी संवेदना है।’

ऑरलेंडो के नाइट क्लब पल्स के सह स्वामी ने इसकी स्थापना अपने भाई की याद में की थी, जिसकी मौत एड्स के कारण हो गई थी। इसका निर्माण एलजीबीटी समुदाय को समर्थन के लिए किया गया।

बारबरा पोमा, जिसके भाई की 1991 में मौत हो गई थी, उसने पल्स को एक साझीदार के साथ 2004 में खोला था। क्लब की वेबसाइट के अनुसार यह क्लब समलैंगिकों के अधिकार और उस समुदाय से जुड़ी गतिविधियों का प्रचार और समर्थन करता है। उसमें इस समुदाय के लिए आयोजित खेलों और अन्य गतिविधियां शामिल हैं।

पुलिस के मुताबिक नाइट क्लब में जिन 50 लोगों की हत्या की गई, वह सुनियोजित  चिह्नित हमला था। अमेरिकी स्वात टीम का निशाना बनने से पहले हमलावर ने पुलिस को तीन घंटे तक बंधक बना कर रखा। एफबीआई के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक हमलावर की पहचान ओमर एस मतीन के रूप में हुई है और वह फ्लोरिडा का निवासी था। अधिकारी ने बताया कि वह आईएस आतंकियों से संबद्ध हो सकता है। पल्स फ्लोरिडा के उन पांच गे बार में से एक है, जहां लैटिन संगीत बजता है, सुंदरियां नृत्य मदहोश कर देने वाला नृत्य पेश करती हैं और गठीले बारटेंडर शराब परोसते हैं।

एक अन्य गे बार के बारटेंडर रेमंड माइकल ने पल्स में जीवित बचे कर्मियों से बातचीत में कहा कि इस क्लब में जश्न होता था। अब यहां पूरे हफ्ते शोक मनाऊंगा। मैं हालांकि इनमें से किसी को नहीं जानता था, लेकिन अब सब को जानूंगा। पल्स के बारटेंडर जुआन ओरेगो ने अपने फेसबुक पेज पर कहा कि वह ठीक है। उसे केवल पैर में गोली लगी है। उसने दुआ करने के लिए सभी का धन्यवाद किया। गोलीबारी की वारदात देर रात 2 बजे हुई।

अमेरिका के नाइट क्लब में हुई गोलीबारी की ISIS ने ली जिम्मेदारी

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-