laxmi-shankar-shukla_1466151383

चिल्लूपार की जनता प्रतिनिधियों को चुनकर विधान सभा में भेजती रही। जिससे क्षेत्र की सड़क, बिजली, स्वास्थ्य, पुल, शिक्षा, सिचाईं, नहर, बाढ़, बेरोजगारी जैसी समस्याओं से निजात मिल सके। जनता ने सोचा कि हमारा जनप्रतिनिधि हमारी समस्याओं को लेकर दिन-रात लड़ेगा लेकिन यहां के जनप्रतिनिधियों ने विधायक निधि को अपनी निजी निधि मान लिया और अपने चाहने वालों में बांट दिया। जनता की समस्याएं आज भी जस की तस बनी हुई हैं। जिसके कारण आज यह विधान सभा क्षेत्र उपेक्षा का दंश झेल रहा है । यह बातें भाजपा नेता लक्ष्मीशंकर शुक्ल ने गोरखपुर जिले की चिल्लूपार विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गावों में जनसम्पर्क के दौरान कही।

लक्ष्मीशंकर शुक्ल ने लोगों से कहा कि विकास का अर्थ केवल सड़क निर्माण नहीं है। विकास का अर्थ क्षेत्र की जनता के समग्र विकास से है। इसमें युवाओं को उचित शिक्षा दिलवाना, बेरोजगारों को प्रशिक्षण देकर कुशल बनाना, युवतियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रशिक्षण दिलवाना, किसानों की खेती सम्बन्धित समस्याओं के समाधान के लिए सुविधा दिलवाना, नहर सफाई व सिचाईं के साधनों का विकास, पौधरोपण को खेती में समाहित कराना, स्वास्थ्य सुविधाओं का विकास आदि अनेक कार्य शामिल है। यह तभी सम्भव है जब जनता के बीच घूमकर समस्याओं को समझने वाले जनप्रतिनिधि का चुनाव किया जाएगा। अब वह समय आ गया है कि विकास के नाम पर छल करने वालों से क्षेत्र की जनता को सजग रहकर सही प्रतिनिधि का चुनाव करे।

लक्ष्मीशंकर शुक्ल इस बार चिल्लूपार विधानसभा से विधायक पद के लिए उम्मीदवारी पेश कर रहें हैं। उन्होंने क्षेत्र की जनता से कहा कि यदि आप मुझ पर भरोसा कर यहां से जनप्रतिधि चुनते है तो मेरा वादा है कि मैं आप के उम्मीदों पर खरा उतर कर क्षेत्र में विकास की नई इबारत लिखूंगा। भ्रटाचार मुक्त एवं भयमुक्त समाज देना मेरी प्राथमिकता में सर्वोपरि है।

देखना होगा कि चिल्लूपार क्षेत्र की जनता आगामी विधानसभा चुनावों में लक्ष्मीशंकर शुक्ल को अपने प्रतिनिधि के रुप में चुनती है या नहीं?

अपनों का विधायक निधि को निजी निधि मान किया विकास-लक्ष्मीशंकर शुक्ल

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-