hema-malini_1463261740

मथुरा हिंसा पर स्थानीय सांसद और अदाकारा हेमा मालिनी ने ट्वीट कर राज्य सरकार और प्रशासन पर तीखा हमला किया है। हेमा मालिनी के मुताबिक यूपी की अखिलेश सरकार को पहले ही अतिक्रमण को उखाड़ देना चाहिए था, लेकिन सरकार ने तब तक जहमत नहीं उठाई जब तक कि हाईकोर्ट ने आदेश नहीं दिया।

हेमा मालिनी ने शासन-प्रशासन को सवालों के घेरे में लेते हुए निशाना साधा, उन्होंने ट्वीट में कहा कि करीब तीन हजार लोगों के पास हथियार थे, क्या इसकी भनक प्रशासन को नहीं थी? सब कुछ जानते हुए भी प्रशासन हालातों को काबू नहीं कर सका। हेमा मालिनी ने ये भी कहा कि बीजेपी इस मामले में सीबीआई जांच की मांग करती है।

मथुरा हिंसा को लेकर हेमा मालिनी खुद विवादों में फंसी हैं। हेमा पर आरोप है कि जिस वक्त मथुरा हिंसा की आग जल रहा था, उस वक्त हेमा अपनी आने वाली फिल्म की शूटिंग में व्यस्त थीं और हालातों से बेखबर अपने फैन्स के लिए शूटिंग की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कर रही थीं। हेमा मथुरा से ही बीजेपी सांसद हैं इसलिए विवाद गहराते देर नहीं लगी।

यही नहीं खबर ये भी आई थी कि बीजेपी के आला अधिकारियों ने हेमा को गैरजिम्मेदारा होने पर फटकार भी लगाई गई, जिसके बाद सांसद अपने क्षेत्र में सक्रिय नजर आईं। मथुरा हिंसा अपने आप में भयावह और दुखद वारदात है, जिसने सरकार और प्रशासन के लचर रवैये और कार्यप्रणाली की पोल खोली है।

हर तरफ से इस वारदात को लेकर शासन-प्रशासन की निंदा हो रही है। वहीं मुख्यमंत्री अखिलेश भी मीडिया के सामने स्वीकार चुके हैं पुलिस से इस मामले में भारी चूक हुई है। उधर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अखिलेश से फोन पर बात कर हालातों से उबरने में हर संभव मदद देने का वादा किया है।

अखिलेश सरकार पर बरसीं ‘ड्रीम गर्ल’

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-