मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बृहस्पतिवार को अपने गृह क्षेत्र इटावा में चाचा शिवपाल सिंह यादव को उनके सरकारी कामकाज को लेकर इशारों में चेताया। कहा कि इटावा में किन-किन लोगों ने ठेका लिया और कितना पैसा कमाया, मेरे पास इसकी पूरी जानकारी है। मेरी ईमानदारी है कि मैं जांच नहीं करा रहा। अगर किसी ने शिकायत कर दी तो हर स्तर पर जांच कराएंगे। अभी मेरी सरकार गई नहीं हैं। अपने 15 मिनट के संबोधन में अखिलेश ने बगैर नाम लिए चाचा शिवपाल सिंह यादव पर एक के बाद एक कई हमले किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों की साजिश के बावजूद साइकिल तो बचा ली है अब इसे विधानसभा तक पहुंचाना है। उन्होेंने कहा कि इटावा में भी उन्हें लड़ना पड़ रहा है, यह दुखद है। भितरघातियों पर इशारा करते हुए उन्होंने समर्थकों को सावधान रहने को कहा। प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें तो एक तरफ हाथी से लड़ना पड़ रहा है और दूसरी तरफ देश के सबसे ताकतवर पीएम भी अब देश-विदेश की राजनीति छोड़कर थाने वाली राजनीति करने लगे हैं।

इटावा नुमाइश मैदान पर चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने अपनी बात पार्टी में चले सियासी घमासान से शुरू की। सीएम ने आगाह करते हुए कहा कि कई लोग साइकिल को आगे नहीं बढ़ने देना चाहते हैं। पार्टी प्रत्याशी की मुखालफत में लगे लोगों की ओर इशारा करते हुए कहा कि चुनाव में गाड़ी के स्पेयर चिह्न लेकर आए हैं। उन्हाेंने आह्वान किया कि इस स्पेयर का हिसाब किताब कर देना। अखिलेश ने कहा कि चुनाव तो पूरे उत्तर प्रदेश में हो रहा है। मगर इटावा का चुनाव कुछ अलग है। हमने कभी भी साइकिल को हराने की बात नहीं की। मगर सुना है कि यहां मोबाइल के जरिये और लोगों को बुलाकर साइकिल को हराने की बात हो रही है। ऐसे लोगों का भी हिसाब रखा जाएगा।

अखिलेश ने शिवपाल को दी सरकारी जांच कराने की धमकी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-