mulayam_singh_20161025_1503_25_10_2016

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में चल रहे सपा के संग्राम में पिछले दो दिनों से चल रहे विवाद के बाद मंगलवार को मुलायम सिंह ने भी यह बात मानी की पार्टी में कुछ लोग साजिश कर रहे हैं। वहीं उन्‍होंने मंत्रिमंडल से बर्खास्‍त म‍ंत्रियों की वापसी का फैसला अखिलेश यादव पर छोड़ दिया है।

उन्‍होंने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी पार्टी एक है, इस प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में अखिलेश उनके साथ नहीं थे, पहले कहा जा रहा था कि मुख्‍यमंत्री और शिवपाल यादव प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में मौजूद रहेंगे।

मीडिया को संबोधित करते हुए अखिलेश द्वारा अपने मंत्रिमंडल से निकाले गए चार मंत्रियों की वापसी पर मुलायम ज्‍यादा कुछ नहीं बोले और कहा कि इसका फैसला सीएम को करना है पार्टी में अमर सिंह को लेकर हो रहे विरोध पर फिर उनका बचाव किया और कहा कि उन्‍हें पार्टी से नहीं निकाला जाएगा।

पिछले दिनों की तरह एक बार फिर चुनाव में सीएम उम्‍मीदवार को लेकर कहा कि 2012 का चुनाव मेरे नाम पर लड़ा गया था और यह अखिलेश की जिम्‍मेदारी है कि उसे आगे ले जाए। हमारी पार्टी लोकतांत्रिक है और चुनाव से पहले हम मुख्‍यमंत्री पद के उम्‍मीदवार के नाम की घोषणा नहीं करते। अखिलेश सीएम हैं और रहेंगे लेकिन चुनाव के बाद सीएम के नाम पर निर्णय होगा। नतीजों के बाद विधायक दल मुख्‍यमंत्री के रूप में अपना नेता चुनेंगे।

रामगोपाल को पार्टी से निकाले जाने के बाद आए उनके बयानों को लेकर मुलायम सिंह ने कहा कि मैं उनकी बातों को कोई महत्‍व नहीं देता हूं।

सपा परिवार का झगड़ा अब भी जस का तस बना हुआ है। सोमवार शाम से लगातार जारी बैठकों का दौर खत्‍म हो गया है लेकिन अब भी दूरियां बनी हुई हैं।

इससे पहले खबर आई थी कि झगड़ा सुलझने लगा है और रविवार को अखिलेश यादव द्वारा कैबिनेट से बर्खास्‍त किए गए शिवपाल यादव, पर्यटन मंत्री ओम प्रकाश सिंह, खादी मंत्री नारद राय व मंत्री शादाब फातिमा की मंत्रिमंडल में वापसी होगी लेकिन फिलहाल उनके विभागों को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

 

 

अखिलेश करेंगे शिवपाल की वापसी पर फैसला: मुलायम

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-