नई दिल्‍ली। पार्टी के चुनाव चिन्‍ह साइकिल पर दोनों ही पक्ष दावा कर रहे हैं और इस बीच चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर अखिलेश और मुलायम सिंह यादव से कहा है कि वो अपने समर्थकों का हलफनामा पेश करे।

इसके लिए उनके पास 9 जुलाई तक का वक्‍त है। इस हलफनामे में दोनों को यह बताना होगा कि उनके समर्थन में कितने विधायक और एमएलसी हैं। इससे पहले मुलायम सिंह ने अमर सिंह के माध्‍यम से चुनाव आयोग को ज्ञापन भेजा था जिसमें कहा गया है कि रामगोपाल यादव सपा से लिखित तौर पर निष्‍कासित किए जा चुके थे और ऐसे में राष्‍ट्रीय अधिवेशन बुलाने का उनके पास अधिकार नहीं है।

यह अधिकार केवल राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष को ही है। इससे पहले बुधवार को भी जारी पार्टी में सुलह की कोशिशों को कोई आधार नहीं मिल पाया। पार्टी में टूट के नतीजे क्‍या होंगे इसकी एक तस्‍वीर हाल ही में जारी हुए एक न्‍यूज चैनल के सर्वे में सामने आई है ऐसे में सपा को सरकार बनानी है तो साथ चलना होगा लेकिन दोनों ही पक्ष सुलह नहीं कर पा रहे हैं।

 

 

 

अखिलेश और मुलायम को चुनाव आयोग ने दिया 9 जनवरी तक का समय

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-