global35_20161022_102334_22_10_2016

इंदौर। केन्द्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली और केंद्रीय संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद की मौजूदगी में ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2016 का उदघाटन हुआ।समारोह में योग गुरु बाबा रामदेव भी मौजूद हैं।शुभारंभ समारोह में अनिल अंबानी और गाेपीचंद हिंदुजा ने राज्य के विकास की सराहना की।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, केन्द्रीय इस्पात मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, वित्त मंत्री जयंत मलैया, उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल, कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन, महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस, नगरीय विकास मंत्री माया सिंह सहित अनेक उद्योगपति, राजदूत और प्रतिष्ठित कम्पनियों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मौजूद हैं।

आरंभ में अतिथियों ने दीप प्रज्जलित कर शुभारंभ किया। रिलायंस के अनिल अम्बानी, शशि रुईया, कुमार मंगलम, नौशाद फोब्रर्स सहित सिंगापुर, जापान से आए अतिथियों का सीएम ने स्वागत किया।

प्रमुख सचिव अंटोनी डिसा ने अपने संबोधन में कहा कि मध्यप्रदेश देश का दिल है यह सभी जानते हैं पर अब देश की धड़कन बन गया है । 2014 और 2016 में क्या-क्या इन्वेस्ट हुआ उसका रिपोर्ट कार्ड हम सबके सामने रखेंगे। उन्होंने प्रदेश की प्रत्येक सेक्टर में ग्रोथ के बारे में जानकारी दी।साथ ही इन्वेस्टर्स की रुपरेखा सबके समक्ष रखी।

हिंदुजा ग्रुप के चेयरमेन गोपीचंद हिंदुजा ने अपने संबोधन में सीएम की लंदन यात्रा को सराहते हुए कहा कि उनका दिल हमेशा हिंदुस्तान में है। यह उनकी प्रदेश और इंदौर की पहली यात्रा है। उन्होंने कहा कि कई देशों की अर्थव्यवस्था खस्ताहाल है। हमें फख्र है कि हमारे यहां बेहतर प्रधानमंत्री हैं ।उन्होंने देश का नक्शा बदल दिया है।वे कहते हैं कि हम भारत से हैं तो हमें गर्व होता है। बिड़ला समूह के कुमार मंगलम बिड़ला और रिलायंस के अनिल अंबानी ने भी प्रदेश की विकास यात्रा की सराहना की।

अम्बानी ने शिव राज सिंह चौहान की तारीफ करते हुए कहा कि चौहान ने तीसरी बार सत्ता में आकर रिकॉर्ड कायम किया है। उनकी दूरदृष्टि के कारण ही मध्यप्रदेश में निवेशक आये हैं। प्रदेश में स्थिरता विश्वसनीयता और समय पर कार्य होने से इन्वेस्टर प्रदेश की ओर आकर्षित हो रहे हैं।

याेग गुरू बाबा रामदेव ने प्रदेश और देश की तारीफ करते हुए अपने पतंजिल समूह की योजनाओं का उल्लेख किया।

प्रदेश की सर्वाधिक महत्वाकांक्षी दो दिवसीय ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में उद्घाटन सत्र के अलावा तीन सेशन रखे गए हैं। इसमें पार्टनर कन्ट्री के प्रतिनिधि के साथ भाग लेने उद्योगपति प्रदेश में निवेश की संभावनायें तलाशेंगे। दो दिवसीय इस निवेश मेले में देश-विदेश के सभी बड़े उद्योग समूहों के लगभग 2200 प्रतिनिधि, 23 देशों के राजदूत अपने प्रतिनिधि मण्डलों के साथ शिरकत कर रहे हैं।

 

पहले दिन समिट के सबसे महत्वपूर्ण सेशन प्रारंभ होंगे, जिनमें निवेशकगण बी 2 बी, और बी2 जी यानि की दो-दो के और समूह में बैठकर चर्चा करेंगे, इसके लिये ए.के.व्ही.एन. और सी.आई.आई.आई. द्वारा बेहतरीन व्यवस्थायें की गयी है। प्रथम सत्र में समिट की पार्टनर कन्ट्री सेशन की थीम पर प्रजेन्टेशन देंगे। इस सत्र में टेक्सटाइल और टूरिज्म के क्षेत्र में निवेश के लिये संभावनाओं प्रदेश सरकार की नीतियों और प्लानिंग पर चर्चा हो सकेगी। प्रत्येक सत्र के लिये स्पीकर तय कर दिये गये हैं, इन सत्रों में प्रदेश के वरिष्ठ मंत्रिगण और आफिसर्स उपस्थित रहेंगे।

समिट का दूसरा महत्वपूर्ण सेशन अपरान्ह प्रारंभ होकर शाम तक चलेगा। इसमें भी समिट की पार्टनर कन्ट्री मेन थीम पर प्रजेन्टेशन के बाद मध्यप्रदेश में आटोमोबाइल एण्ड इंजीनियरिंग, एग्री विजिनेस और फूड प्रोसेसिंग तथा फर्मास्यूटीकल में विपुल संभावनाओं पर विस्तार से चर्चा की जाएगी।

 

अंबानी और हिंदुजा ने मप्र के विकास को सराहा

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-